kahani in hindi, एक दिन की मदद की कहानी इन हिंदी

kahani in hindi | Hindi story

Kahani in hindi, एक दिन की मदद की कहानी इन हिंदी, अभी तो फ़ोन आया है, मुझे यहां से चलना ही होगा, अगर समय से नहीं पहुंचा तो हो सकता है की बॉस इस बारे में मुझे जरूर कह सकते है, मुझे लग नहीं रहा था की आज मुझे जाना होगा, Because आज तो कोई भी काम नहीं है but जब बुलाया है, तो जाना ही चाहिए, कुछ देर बाद ही निकल गया था, मुझे पता था की यह रास्ता मेरे घर से लगभग एक घंटे की दुरी पर था, इसलिए समय से निकल भी गया था, तभी रस्ते के ट्रफिक ने बहुत परेशान कर दिया था,

kahani in hindi : एक दिन की मदद की कहानी इन हिंदी 

Kahani in hindi

Kahani in hindi

मुझे ऐसा लग रहा था की आज बहुत भीड़ है, इसलिए लग नहीं रहा था की समय से पहुंच सकता हु, मुझे रस्ते में एक लड़का मिल गया था, जोकि कही जाना चाहता था वह भी मुझसे रास्ता पूछ रहा था, शायद वह पहली बार आया था Because उसे यहां के बारे में कुछ भी मालूम नहीं था, उसे रास्ते के बारे में बताने से अच्छा है उसे साथ में ले लिया जाये Because जिस जगह पर वह जाना चाहता है वह मेरे रस्ते में ही पड़ती है, मुझे ऐसा लगता है की वह किसी कम्पनी में जा रहा था, शायद वह नौकरी की तलाश में था, (Kahani in hindi)

 

उससे अधिक बात तो नहीं हुई थी, but मुझे लगता था की उसे समय से पहुंचा देना चाहिए, वह समय से पहुंच गया था मगर मुझे देर हो गयी थी में उसकी बातें में भूल ही गया था की मुझे भी समय से जाना चाहिए था कुछ समय बाद जब में भी पहुंच गया था मुझे पता चल गया था की किसी काम से बॉस बाहर गए है, वह सभी से मिलना चाहते थे, but समय से न पहुंच पाने से नहीं मिल पाए थे, अब कुछ नहीं हो सकता था, वह तो चले गए थे, कुछ देर बाद ही उस जगह से चलने के लिए तैयार हो गया था, (Kahani in hindi)

 

Because आज कुछ भी काम नहीं था वह तो मुझसे भी मिलना चाहते थे but कुछ देर बाद ही बॉस का फ़ोन आ गया था, उनसे इस बारे में माफ़ी मांगनी पड़ी थी Because समय से नहीं पहुंच पाया था but उन्होंने कुछ नहीं कहा, बल्कि वह कुछ बातें भी करना चाहते थे शायद वह वापिस जा आयंगे तब ही बात कर सकते है अब घर चलने के लिए तैयार हो गया था, उसी रस्ते से घर भी जाना था मगर वही लड़का फिर से मिल गया था, उसे देखकर पूछा की क्या तुम्हे वह नौकरी मिल गयी है, (Kahani in hindi)

 

उसने मना कर दिया था Because उसे लग रहा था की शायद उसे वह काम नहीं मिल पायेगा, वह अब कुछ नहीं कर सकता था, वह पहुंच रहा था, की क्या वह उसकी मदद कर सकते है शायद उसकी बातें मुझे ठीक लग रही थी Because यह बात कुछ समय पहले की है जब बॉस ने कहा की उन्हें एक आदमी चाहिए जोकि उनके कुछ काम कर सकता हो, शायद उसे नौकरी मिल सकती है, उसकी परेशानी दूर हो सकती है, (Kahani in hindi)

Kahani in hindi | Hindi story

but अभी तो बॉस यहां पर नहीं है जब वह वापिस आयंगे तो उनसे बात की जा सकती है, वह लड़का यह पर किसी को नहीं जानता था इसलिए वह मेरे साथ में ही आ गया था, वह बहुत खुश था की वह यह पर काम की तलाश को पूरा कर सकता है कुछ दिन बाद जब बॉस आये तो उसे नौकरी मिल गयी थी, वह लड़का अब कुछ ही दुरी पर रहता है, अब वह मेरे साथ में काम करता है अगर आपको यह Kahani in hindi, Hindi story पसंद आयी है, तो जरूर शेयर करे   

 

काम की तलाश कहानी इन हिंदी : Kahani in hindi

मुझे पता है की तुम्हे काम की जरूरत है तुम्हे कमा मिल भी सकता है, but तुम्हे इस बारे में बताया गया है, की तुम्हे काम कैसे मिल सकता है, सेठ के गोदाम में एक आदमी की जरूरत है, but तुम जानते हो की सेठ किसी पर भरोसा नहीं करता है, इसलिए जो सेठ के गोदाम में काम करेगा उसे सेठ के गोदाम में रखे सामान की कीमत पहले देने होगी, Because अगर कुछ भी बुरा होता है, तो वह सेठ उस कीमत से अपने नुकसान को पूरा कर सकता है,

 

वह आदमी कहता है की यह बात आप जानते है की मेरे पास धन की बहुत कमी है में कुछ भी नहीं कर सकता हु अगर आप सेठ से बात करे तो हो सकता है की वह मान जाये, वह उसकी बाते सुनता है उसके बाद कहता है की में जानता हु की तुम बहुत अच्छे हो but मेरी बात सेठ नहीं सुनेगा अगर तुम कहते हो तो में सेठ से बात करता हु, वह सेठ के पास जाता है वह कहता है की मुझे एक आदमी मिला है वह बहुत ही ईमानदार है उसे काम की तलाश है अगर आप उसे काम देते है तो बहुत अच्छा होगा,

 

सेठ उसे देखता है सेठ कहता है की तुम कहते सही हो, but मुझे जल्दी विश्वाश नहीं होता है, यह बात तुम जानते हो, वह आदमी कहता है की आप उसे देख लीजिये उसके काम को देखने के बाद ही आप सोच सकते है, सेठ कहता है की ठीक है तुम उसे कल मेरे पास भेज देना, सेठ के पास वह आदमी आता है, वह सेठ उसे देखता है सेठ कहता है की पहले तुम्हे मेरा काम करना होगा अगर वह काम अच्छा हो गया तो में तुम्हे काम दे सकता हु,

Kahani in hindi | Hindi story

वह आदमी कहता है की आप ठीक कह रहे है आप जैसा कहते है वैसा ही होगा, सेठ ने उसे एक कमरे में जाने को कहा था, उसके बाद सेठ चला जाता है सेठ ने उस कमरे में अपना पर्स रखा हुआ था सेठ जानता था की वह ईमानदार नहीं हुआ तो वह जरूर कुछ करेगा वह आदमी उस कमरे में रहता है वह सेठ का पर्स देखता है वह उस पर्स में देखता है जोकि बहुत सरे धन से भरा हुआ था वह उसे लेता है और सेठ के पास जाता है सेठ को वापिस कर देता है वह आदमी कहता है की आप इसे भूल गए थे सेठ कहता है की तुम आज से काम कर सकते हो उस आदमी को काम मिल गया था सेठ को ईमानदार आदमी, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो शेयर जरूर करे

Read more hindi story :-

यह मेरा घोडा है मोरल हिंदी कहानी

तीन दोस्तों की अनोखी कहानी

मोटू और पतलू की कहानी

तीन परियों की हिंदी कहानी 

अकबर बीरबल और नगर की समस्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *